Pregnancy Symptoms In HindiWhat

Pregnancy Symptoms In Hindi | प्रेग्नेंट होने के 6 शुरुआती लक्षण

Pregnancy Symptoms In Hindi: मां बनना किसी भी महिला के लिए बहुत ही खास होता है। इस खबर को सुनने के लिए हर महिला बेताब रहती है। यूं तो गर्भधारण करने के बाद कुछ लक्षण साफ दिखाई देने लगते हैं। 

लेकिन कई बार कुछ महिलाएं शुरुआती समय में गर्भधारण के लक्षण को समझ नहीं पाती। जिससे कि स्वास्थ्य संबंधी समस्याओं को खतरा बढ़ जाता है। तो आइए जानते हैं कुछ ऐसे लक्षण जिनसे आप जान सकती हैं कि आप मां बनने वाली है।

वैसे तो प्रेगनेंसी जांचने के लिए मार्केट में आपको कई तरह के प्रेगनेंसी चेक करने के उपकरण मिल जाते है। लेकिन आज मैं आपको आपकी बॉडी में शुरुआती समय में होने वाले परिवर्तन से आप जान पाएंगे कि आप प्रेग्नेंट है या नहीं।

यह बताना बहुत ही जरूरी है कि यह केवल लक्षण है और यह किसी और भी वजह से भी हो सकते हैं। 

Pregnancy Symptoms In Hindi

1. माहवारी का बंद होना

स्वस्थ महिला को प्रतिमाह महावारी निश्चित समय में आ जाती है। लेकिन गर्भ धारण करते हैं महावारी आना बंद हो जाती है। यह गर्भधारण करने का सबसे पहला लक्षण है।

2. उल्टी आना

अधिकांश महिलाओं को गर्भावस्था के शुरुआती 3 महीनों में सुबह-सुबह मतली आने की समस्या सबसे ज्यादा होती है। गर्भधारण के प्रारंभिक लक्षण जी मिचलाना उल्टी आना इत्यादि शामिल होता है। यदि आपको इसमें से कोई भी लक्षण दिखाई दे तो समझ लेना चाहिए कि आप गर्भवती हैं।

3. सिर दर्द

गर्भावस्था के संकेतों में सिर दर्द शामिल होता है। सिर दर्द तो कभी भी हो सकता है। लेकिन हारमोंस के निरंतर बदलाव के कारण तनाव होने लगता है। इससे कुछ महिलाओं को सिर दर्द होने लगता है।

4. स्तनों का भारीपन

स्तनों में गर्भावस्था के दौरान दर्द होने लगता है हालांकि यह दर्द माहवारी से पहले भी होता है। लेकिन गर्भावस्था के दौरान स्तन कोमल भी हो जाते हैं। साथ ही स्तनों में भारीपन के आकार में परिवर्तन और साथ में आसपास के हिस्से में कालापन आना शुरू हो जाता है।

5. थकान महसूस करना

गर्भधारण के पहले हफ्ते से बहुत अधिक थकान और खास तौर पर सुबह के समय थकान एक प्रमुख लक्षण होता हैं। इस अवस्था में शरीर में प्रोजेस्टेरॉन हार्मोन बनता है। जिससे शरीर बहुत ही जल्दी थक जाता है।

6. बार बार यूरिन आना

गर्भावस्था के शुरुआती दिनों में यूरिन बार-बार आता है क्योंकि इस दौरान आपका शरीर अतिरिक्त तरल पदार्थ उत्पात करता है। जिससे मूत्राशय पर दबाव पड़ता है। और आपको बार-बार यूरिन जाना पड़ता है।

Conclusion

गर्भावस्था के सुझाव में डॉक्टर से नियमित जांच कराने पौष्टिक आहार लेना खूब पानी पीना फल जूस इत्यादि के सेवन करने की सलाह देते हैं। इन लक्षणों का ध्यान रख आप आसानी से पता लगा सकते हैं कि आप मां बनने वाली हैं लेकिन फिर भी डॉक्टर से एक बार जांच और रक्त परीक्षण करा लेना ठीक रहता है।

यह भी पढ़ें: 

Summary
Review Date
Reviewed Item
Pregnancy Symptoms In Hindi:
Author Rating
51star1star1star1star1star

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *